स्मार्ट इंडिया हैकाथॉन – 2019 के तीसरे संस्‍करण का ग्रैंड फिनाले 2- 3 मार्च 2019 को

देशभर के 48 नोडल केन्‍द्रों पर एक साथ 36 घंटे के नॉन-स्‍टॉप ग्रैंड फिनाले का आयोजन

मानव संसाधन विकास मंत्रालय के उच्‍च शिक्षा विभाग के सचिव आर.सुब्रह्मण्‍यम ने आज नई दिल्‍ली में अब तक के सबसे बड़े स्मार्ट इंडिया हैकाथॉन – 2019 के तीसरे संस्‍करण (सॉफ्टवेयर) के बारे में एक संवाददाता सम्‍मेलन का आयोजन किया। स्मार्ट इंडिया हैकाथॉन – 2019 देशभर के 48 नोडल केन्‍द्रों में एक साथ आयोजित होने जा रहा है। स्मार्ट इंडिया हैकाथॉन हमारे देश के समक्ष आ रही चुनौतियों का समाधान करने के लिए नवीन एवं परिवर्तनकारी डिजिटल टेक्‍नोलॉजी संबंधी नवाचारों की पहचान करने की एक अनूठी पहल है। यह एक नॉन-स्‍टॉप डिजिटल उत्‍पाद विकास प्रतिस्‍पर्धा है, जहां नवोन्‍मेषी समाधानों के लिए टेक्‍नोलॉजी के छात्रों के समक्ष समस्‍याएं रखी जाती हैं। इस अवसर पर एआईसीटीई के अध्‍यक्ष अनिल सहस्रबुद्धे, मानव संसाधन विकास मंत्रालय के नवाचार प्रकोष्‍ठ के चीफ इनोवेशन ऑफिसर श्री अभय जेरे भी उपस्थित थे।

प्रधानमंत्री स्मार्ट इंडिया हैकाथॉन (सॉफ्टवेयर) – 2019 के ग्रैंड फिनाले को संबोधित करेंगे

केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री ने एक वीडियो संदेश के माध्यम से बताया कि स्मार्ट इंडिया हैकाथॉन- 2019 के तीसरे संस्करण (सॉफ्टवेयर) का ग्रैंड फिनाले 2 – 3 मार्च, 2019 को आयोजित किया जाएगा। उन्होंने यह भी बताया कि प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी स्मार्ट इंडिया हैकथॉन (सॉफ्टवेयर) -2019 के ग्रैंड फिनाले को संबोधित करेंगे।

उन्होंने बताया कि कहा कि एसआईएच- 2019 में, छात्रों को निजी क्षेत्र के संगठनों के भीतर आने वाली चुनौतियों पर काम करने और दुनिया की कुछ शीर्ष कंपनियों के लिए विश्व स्तरीय समाधान तैयार करने का अवसर मिलेगा। इस प्रकार निजी क्षेत्र को सबसे योग्‍य लोगों को साथ जोड़ने में मदद मिलेगी। एसआईएच दुनिया में अब तक का सबसे बड़ा हैकाथॉन है और राष्ट्रीय स्तर पर आयोजित होने वाला एकमात्र आयोजन है।

अब तक एसआईएच के दो संस्करण सफलतापूर्वक आयोजित किए जा चुके हैं। पहले दोनों संस्करण एसआईएच-2017 और एसआईएच -2018 युवाओं, विशेष रूप से देशभर के इंजीनियरिंग छात्रों में नवाचार, रचनात्‍मक चिंतन को बढ़ावा देने में बेहद सफल साबित हुए।

स्मार्ट इंडिया हैकाथॉन

‘स्मार्ट इंडिया हैकाथॉन 2017’ का आयोजन पैन इंडिया 36 ऑवर नॉन-स्टॉप डिजिटल प्रोग्रामिंग कॉम्‍पीटिशन के रूप में किया गया था, जिसमें भारत के 26 स्थानों से प्रतिभागी टीमों ने एक साथ प्रतिस्पर्धा में भाग लिया, ताकि राष्ट्र के सामने आने वाली वास्तविक चुनौतियों को हल करने के लिए डिजिटल लेकिन टिकाऊ अभिनव समाधान पेश किये जा सकें।

एसआईएच – 2018 का आयोजन स्मार्ट इंडिया हैकथॉन – 2017 के बाद भारत में दूसरी बड़े पैमाने की हैकथॉन पहल थी। 27 केंद्रीय मंत्रालयों और विभागों और 17 राज्य सरकारों ने इस भव्य आयोजन में हिस्‍सा लिया था। एसआईएच – 2018 पिछले संस्करण की तुलना में काफी बड़ा आयोजन था। इसमें 2 उप-संस्करण शामिल थे:

· सॉफ्टवेयर संस्‍करण का आयोजन 30-31 मार्च, 2018 को हुआ था, जिसमें 36 घंटे की नॉन-स्‍टॉप सॉफ्टवेयर उत्‍पाद विकास प्रतिस्‍पर्धा का आयोजन किया गया।

· हार्डवेयर संस्‍करण का उद्घाटन 18.06.2018 को किया गया। इसमें हार्डवेयर समाधानों का निर्माण शामिल था।

स्मार्ट इंडिया हैकाथॉन के पिछले दोनों संस्करणों का शुभारंभ मानव संसाधन विकास मंत्री द्वारा किया गया, था, जबकि प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी ने एसआईएच- 2017 और एसआईएच -2018 के ग्रैंड फिनाले को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से संबोधित किया था।

श्री सुब्रह्मण्यम ने मीडियाकर्मियों को बताया कि एसआईएच-2019, एसआईएच-2018 से भी ज्‍यादा बड़ा और बेहतर है। उन्‍होंने बताया कि एसआईएच-2018 के दौरान एक लाख से अधिक छात्रों की ओर से लगभग 17,400 प्रविष्टियां मिली थी, जबकि इस साल दो लाख से अधिक छात्रों में से 34,000+ टीमों में से 52,000+ प्रविष्टियां प्राप्त हुई हैं। कई प्रतिष्ठित निजी क्षेत्र के संगठनों से 500 से अधिक प्रॉब्‍लम स्‍टेटमेंट प्राप्त हुई हैं और सॉफ्टवेयर संस्करण के ग्रैंड फिनाले का आयोजन 2 – 3 मार्च, 2019 को किया जा रहा है, जिसके दौरान 1300 से अधिक टीमें (प्रति टीम 8 प्रतिभागी, लगभग 10,000 प्रतिभागी) भारत के 48 केंद्रों में 36 घंटे तक नॉन-स्टॉप प्रतिस्पर्धा करेंगी ।

Advertisement

About SMEsamadhan

Check Also

सेंसेक्स में 369 अंकों की गिरावट, बैंकिंग सेक्टर के शेयरों में रही बिकवाली

सोमवार शेयर बाजार देश के शेयर बाजारों में सोमवार को गिरावट दर्ज की गई। प्रमुख सूचकांक …