यू-क्लीन ने वैश्विक ब्राण्ड केम-ड्राई के साथ की साझेदारी

भारत की सबसे बड़ी ऑनलाइन लॉन्ड्री कम्पनी यू-क्लीन ने विश्व की अग्रणी सरफेस एवं रेजिडेंशियल क्लीनिंग कम्पनी केम-ड्राई साथ टाई अप किया है. यू-क्लीन एवं केम-ड्राई की यह साझेदारी यू-क्लीन को सम्पूर्ण भारत में अपनी सेवायें फैलाने में मददगार सिद्ध होगी. केम-ड्राई स्वच्छता के क्षेत्र काम रहा 40 बरस पुराना अमेरिकी ब्राण्ड है. केम-ड्राई सरफेस एवं रेजिडेंशियल क्लीनिंग के क्षेत्र में 50 से भी अधिक देशों में 4000 से अधिक फ्रेंचाइजीज के साथ काम कर रहा है.

केम-ड्राई द्वारा यू-क्लीन को दिए गए भारतीय अधिकारों से निश्चित तौर पर यू-क्लीन का बाजार तेजी के साथ बढ़ेगा और उसकी सम्पूर्ण भारत में मौजूदगी को और भी कारगर करेगी. केम-ड्राई भी भारतीय बाजार में स्वयं को तेजी के साथ बढ़ाने के लिए उत्साहित है. केम-ड्राई के जो मनुस्जा का कहना है, “हम भारतीय बाजार में मौजूद अवसरों को लेकर काफी उत्साहित हैं और यहाँ अपने बाजार को तेजी के साथ बढ़ा रहे हैं, हम यू-क्लीन जैसे भारतीय बाजार में पहले से ही स्थापित ब्राण्ड के साथ काम करते हुए गौरान्वित महसूस कर रहे हैं.”

यू-क्लीन के संस्थापक अरुनभ सिन्हा इस साझेदारी के सन्दर्भ में बात करते हुए बताते हैं, “केम-ड्राई ने यू-क्लीन के साथ सम्पूर्ण भारत में सेवाओं के लिए मास्टर फ्रैंचाइज़ी एग्रीमेंट पर हस्ताक्षर किया है. यू-क्लीन अब भारत की एक स्थापित ऑन-डिमांड स्वच्छता सेवा कंपनी है, यह देश भर अपनी लॉन्ड्रोमेट्स, ड्राईक्लीनिंग एवं मिंट क्लीन जैसी सेवाएं प्रदान कर रही है. यू-क्लीन इस साझेदारी के द्वारा केम-ड्राई को ज्ञान रूपी धन के साथ साथ उसे फ्रेंचाइजी परिचालन में भी सहयोग प्रदान करेगी.”

केम ड्राई दुनिया के शीर्ष 40 सबसे फ्रेंचाइज्ड ब्रांडों में से एक है और मैकडॉनल्ड्स, सबवे, बास्किन रॉबिन्स, री / मैक्स इत्यादि जैसे वैश्विक नेताओं के साथ यह सूची वैश्विक प्लेटफॉर्म पर साझा करती है. यू-क्लीन इस साझेदारी के साथ काफी उत्साहित है और इससे उसे देश भर में अपने पाँव पसारने में काफी मदद मिलेगी और निश्चित रूप से इससे आने वाले समय में उसका बाजार पर कब्जा बढ़ेगा. इसके साथ साथ केम ड्राई जैसे वैश्विक ब्राण्ड्स के साथ साझेदारी उसकी ब्राण्ड में वृद्धि करेगी. यू-क्लीन अभी फिलहाल देश के 21 शहरों में 60 फ्रेंचाइजीज के साथ अपनी मौजूदगी दर्ज कर रही है और अन्य बहुत से शहरों की परियोजनाएं पाइपलाइन में हैं.

अभी पिछले ही महीने यू-क्लीन ने अपनी स्थापना के दो वर्ष पूरे किये हैं. अरुनभ को शुरू से ही फ्रैंचाइज़ी इंडिया का सहयोग प्राप्त रहा है. दरअसल उनका यह व्यापारिक अभियान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के स्वच्छ भारत मिशन के साथ भी अपना सामंजस्य रखता है. भविष्य की अन्य रणनीतियों के सन्दर्भ में अरुनभ सिन्हा बस मुस्कुरा कर इतना ही कह जाते हैं, “जिंदगी की असली उड़ान अभी बाकी है, जिंदगी के कई इन्तेहाँ अभी बाकी हैं, अभी तो नापी है मुट्ठी भर जमीन हमने, अभी तो सारा आसमान बाकी है.”

मयंक शर्मा

About SMEsamadhan

Check Also

भारतीय डाक ने ग्रामीण कारीगरों एवं ऑनलाइन रिटेलरों को जोड़ने के लिए ई-कॉमर्स पोर्टल लॉन्च किया

नई दिल्ली, आज भारतीय डाक विभाग नए ई-कॉमर्स पोर्टल पोर्टल का शुभारम्भ किया गया। यह …