कारोबार करना हुआ और सुगम एलएलपी रजिस्ट्रेशन हुआ पूर्णतः ऑनलाइन

कॉरपोरेट कार्य मंत्रालय द्वारा एक प्रेस रिलीज के माध्यम से कहा गया है कि सीमित दायित्‍व साझेदारी अथवा कम्पनी एक प्रकार एलएलपी अर्थात लिमिटेड लायबिलिटी पार्टनरशिप का गठन अब पहले से कहीं आसान होगा. इस पंजीयन प्रणाली को पूरी तरह से ऑनलाइन कर दिया गया है. अब कोई भी व्‍यक्ति किसी भी सरकारी कार्यालय में जाए बगैर ऑनलाइन प्रक्रिया के जरिये अपनी कंपनी का गठन कर कारोबार शुरू कर सकता है. यह उपलब्धि मंत्रालय के अनुसार जनवरी, 2016 में हासिल कर ली गयी थी.

कॉरपोरेटे मामलों के मंत्रालय ने अब पूरी तरह से ऑनलाइन प्रणाली के जरिये सीमित दायित्‍व साझेदारी (एलएलपी) का गठन सुनिश्चित कर संबंधित प्रक्रिया में एक और व्‍यापक बदलाव लाया है. आज से एक वेब सेवा शुरू की गई है, जिसका नाम है “रन-एलएलपी (रिजर्व यूनिक नेम-एलएलपी)”. “फिलिप (एलएलपी के गठन के लिए फॉर्म)” नामक ई-फॉर्म के जरिये एलएलपी को उपयुक्‍त नाम भी आवंटित किया जा सकता है.

एलएलपी से संबंधित नियमों को 18 सितम्‍बर, 2018 को संशोधित किया गया है, जो 02 अक्‍टूबर, 2018 से प्रभावी हो जायेंगे.

संशोधित नियमों में निम्‍नलिखित बदलाव शामिल हैं –

  • “रन-एलएलपी” नामक एक वेब सेवा शुरू करना, जो पूर्ववर्ती फॉर्म-1 का स्‍थान लेगी.
  • फिलिप नामक एक नये एकीकृत फॉर्म को उपयोग में लाना, जो पूर्ववर्ती फॉर्म-2 का स्‍थान लेगा.

इसमें पंजीयन के लिए निम्‍नलिखित तीन सेवाओं का संयोजन किया जाएगा:

  • नाम आरक्षण
  • नामित साझेदार पहचान संख्‍या (डीपीआईएन/डीआईएन) का आवंटन
  • एलएलपी का गठन

Advertisement

About SMEsamadhan

Check Also

व्हाट्सऐप, इंस्टाग्राम और मैसेन्जर को एक करेगा फ़ेसबुक

फेसबुक इंस्टाग्राम, व्हाट्सऐप और मैसेन्जर पर अपनी मेसेज सेवा को एक साथ लाने के बारे …