दुबई चैम्‍बर ने भारत में अपनी शाखा खोलकर अपनी वैश्विक उपस्थिति को मजबूत किया

दुबई चैम्‍बर ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्‍ट्री ने भारत में अपना नया प्रतिनिधि कार्यालय मुंबई में खोला है. यह कार्यालय चैम्‍बर के सदस्‍यों के लिए नये कारोबारी अवसरों की पहचान करने का काम करेगा. यह भारतीय कंपनियों को दुबई के लिए आकर्षित करेगा और द्विपक्षीय व्‍यापार एवं निवेश का विस्‍तार करेगा. यह नया कार्यालय मुंबई में स्थित है और यह इस साल चैम्‍बर द्वारा खोला गया दूसरा प्रतिनिधि कार्यालय है. इस उद्योग संगठन के अंतर्राष्‍ट्रीय कार्यालयों की कुल संख्‍या भारतवर्ष के साथ अब 10 हो गई है.

H.E. Hamad Buamim, President and CEO of the Dubai Chamber

दुबई चैम्‍बर के अध्‍यक्ष एवं मुख्‍य कार्यकारी अधिकारी हमाद बुआमिम ने बताया कि “मुंबई कार्यालय का शुभारंभ चैम्‍बर की वैश्विक उपस्थिति बढ़ाने की अपनी योजनाओं के अनुरूप है. उन्‍होंने इसे भारत के साथ आर्थिक सहयोग को और मजबूत बनाने के लिए एक रणनीतिक कदम बताया, जो कि दुबई के लिए दूसरा सबसे बड़ा व्‍यापारिक साझीदार बना हुआ है एवं दुनिया की सबसे तेजी से बढ़ती अर्थव्‍यवस्‍थाओं में से एक है.

हमाद बुआमिम ने कहा, “दुनिया की छठी सबसे बड़ी अर्थव्‍यवस्‍था होने के नाते, भारत स्‍पष्‍ट तौर पर वैश्विक वृद्धि का इंजन है जो कि शानदार व्‍यावसायिक सामर्थ्‍य एवं वृद्धि के परिदृश्‍यों की पेशकश करता है. भारत में आर्थिक सुधारों और विकास योजनाओं की गति काफी तेज हो रही है और यह आधारभूत संरचना, लॉजिस्टिक्‍स एवं शहरी नियोजन जैसे क्षेत्रों में नये कारोबारी अवसरों का निर्माण कर रही है जिससे दुबई में कंपनियों को निश्चित तौर पर लाभ मिल सकता है.”

दुबई चैम्‍बर के अध्‍यक्ष और मुख्‍य कार्यकारी अधिकारी ने बताया कि नये कार्यालय का शुभारंभ ऐसे समय में किया गया है जब भारत-यूएई के राजनीतिक एवं आर्थिक गठजोड़ उनके सबसे मजबूत बिंदु पर पहुंच चुके हैं, दोनों पक्षों की ओर से उच्‍च स्‍तरीय दौरे किये गये हैं और कई रणनीतिक सहयोग अनुबंध पर हस्‍ताक्षर किये गये हैं. दुबई चैम्‍बर के साथ पंजीकृत भारतीय कंपनियों की संख्‍या 2015 के 27,717 से बढ़कर 2018 की पहली छमाही में 38,238 पहुंच गई है। इसमें 38 प्रतिशत की वृद्धि दर्ज की गई है. दुबई और भारत के बीच गैर-तैलीय व्‍यापार में हालिया वर्षों में स्‍थायी वृद्धि देखने को मिल रही है. 2017 में यह 27 अरब डॉलर पहुंच गया है, इस व्‍यापार का मूल्‍य समान वर्ष के लिए दुबई के कुल गैर-तैलीय विदेशी व्‍यापार का 7.6 प्रतिशत है.

दुबई चैम्‍बर ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्‍ट्री का मिशन दुबई में व्यापार समुदाय के हितों का प्रतिनिधित्व, समर्थन और रक्षा करना है. जहाँ तक रणनीतिक लक्ष्यों की बात है, यह दुबई में एक अनुकूल व्यापारिक वातावरण बनायेंगे. दुबई को एक अंतरराष्ट्रीय व्यापार केंद्र के रूप में बढ़ावा देगें, व्यापार के विकास का समर्थन करेगें, संस्थागत उत्कृष्टता और संसाधनों के कुशल प्रबंधन प्राप्त कर सकें.  दुबई चैम्बर सर्विसेज विवाद एवं समाधान के लिए मध्यस्थता करेगा तथा मूल और एटीए कार्नेट के प्रमाण पत्र जारी करेगा.

कानूनी सेवाएं प्रदान करेगा और विदेशी वाणिज्यिक प्रतिनिधिमंडल को विदेशों में भेजता है और विभिन्न देशों के प्रतिनिधियों का दुबई में स्वागत भी करता है. वह व्यापार मेले और आर्थिक मंचों का आयोजन कर रहा है और उद्यमियों के लिए प्रशिक्षण कार्यक्रम भी आयोजित करता है. दुबई चैम्‍बर ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्‍ट्री व्यापार समूहों और परिषदों को विभिन्न सेवाएं प्रदान करते हुए क्रेडिट रेटिंग सेवाएं, व्यापार मिलान सेवाएं एवं अद्यतन अनुसंधान रिपोर्ट्स प्रदान करता है. अतिरिक्त सेवाओं के रूप में सदस्यों को नेटवर्क बढाने में मदद करता है, जिससे दुबई एवं वैश्विक स्तर पर निवेश वातावरण में वृद्धि हो सके.

दुबई चैंबर ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्री की स्थापना 1965 में दुबई के स्वर्गीय शासक, शेख रशीद बिन सईद अल मकतूम द्वारा जारी एक हुक्मनामे द्वारा किया गया था. इस औद्योगिक संघ की स्थापना दुबई की राष्ट्रीय अर्थव्यवस्था का समर्थन करने एवं वाणिज्यिक गतिविधियों के विकास में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाई. दुबई चैंबर ने 450 सदस्यों और 12 सदस्यीय निदेशक मंडल के साथ अपनी गतिविधियों की शुरुआत की, जिसकी सदस्य संख्या 2017 में 2,01,000 से अधिक तक पहुँच गई, जो कि सभी आर्थिक क्षेत्रों का प्रतिनिधित्व करते हैं.

इन सदस्यों की संख्या तेजी के साथ बढ़ रही है, दुबई चैंबर दुबई एवं विश्व के अन्य हिस्सों में अपने कार्यालय एवं शाखाएं लगातार खोल रहा है, जिससे वह अपनी उत्कृष्ट सेवाएं अपने अधिक से अधिक सदस्यों तक पहुंचा सके. दुबई चैंबर ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्री की शाखाएं जेबेल अली फ्री जोन के साथ साथ दुबई हवाई अड्डे फ्री जोन (डीएएफजेएए), जफाजा 14 और अल अवेर में ड्राई पोर्ट कस्टम बिल्डिंग में भी मौजूद है.

दुबई चैंबर ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्री की गतिविधियों की बात करें तो उन्होंने दुबई में दुबई स्टार्टअप हब प्रोग्राम्स की स्थापना की है, जिसके माध्यम से उन्हें आदर्श बाजार तक पहुँच बनाने में मदद की जाती है, उन्हें उद्यमी बनने के लिए प्रेरित किया जाता है, उनकी उद्यमिता प्रवृत्ति की हिमायत की जाती है और उनके विकास एवं संवर्धन हेतु विभिन्न इवेंट्स का भी आयोजन किया जाता है.

उद्यमिता विकास के लिए दुबई चैंबर ने तेजर दुबई नामक उद्यमी विकास कार्यक्रम की भी स्थापना की है, जिसके माध्यम से संयुक्त अरब अमीरात के 18 से लेकर 35 बरस की उम्र के युवाओं के लिए उद्यमी विकास कार्यक्रम एवं उद्यमी बन चुकने के बाद के लिए भी कुछ कार्यक्रमों का निर्माण किया गया है.

दुबई चैम्‍बर ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्‍ट्री की स्‍थापना 1965 में की गई थी. यह एक गैर-लाभकारी सार्वजनिक कंपनी है जिसका मिशन दुबई में कारोबारी समुदाय के हितों का प्रतिनिधित्‍व करना, उन्‍हें सहयोग एवं सुरक्षा प्रदान करना है. यह एक अनुकूल कारोबारी परिवेश का निर्माण करता है, व्‍यावसाय के विकास को सहयोग देता है और दुबई को अंतर्राष्‍ट्रीय व्‍यावसायिक केंद्र के तौर पर बढ़ावा देता है और व्यवसाय के विकास का समर्थन करना.

अभी कल ही स्मार्ट मजलिस की और से मोहम्मद बिन रशीद अल मकतूम साहब द्वारा एक घोषणा की है, जिसमें स्टार्टअप एवं एसएमई इकाइयों के लिए अवसर अवश्य हो सकते हैं. हम उसकी जानकारी के लिए आपको दुबई चैम्‍बर ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्‍ट्री के फेसबुक पोस्ट को आपके साथ साझा कर रहे हैं, विवरण प्राप्त करने के लिए सभी लिंक्स इसमें मजूद हैं.

Do you have an idea that could help #Dubai transform how it does business and trade? We want to hear from you. Send your idea via Mohammed bin Rashid Smart Majlis. We look forward to hearing from you! https://www.mbrmajlis.ae #MBRSmartMajlis Mohammed bin Rashid Smart Majlis

Do you have innovative ideas that can contribute to promoting and developing business environment in #Dubai? Share your thoughts through Mohammed Bin Rashid’s intelligent council and contribute to making dubai the smartest and fastest-growing city in the world. https://www.mbrmajlis.ae #Council #Council

Do you have an idea that could help #Dubai transform how it does business and trade? We want to hear from you. Send your idea via Mohammed bin Rashid Smart Majlis. We look forward to hearing from you! https://www.mbrmajlis.ae #MBRSmartMajlis Mohammed bin Rashid Smart Majlis

स्रोत: बिज़नेस वायर, एटोस वायर एवं टीम SMEसमाधान.

About SMEsamadhan

Check Also

गवर्नमेंट ई-मार्किट – जीईएम पोर्टल पर राष्ट्रीय मिशन – सरकारी खरीद के आंकड़े

सार्वजानिक खरीद नीति को गति प्रदान करने के लिए जीईएम प्लेटफॉर्म पर राष्ट्रीय मिशन का …