देहरादून में नेशनल एससी एसटी हब कॉन्क्लेव का आयोजन

इंडियन चैम्बर ऑफ़ कॉमर्स फॉर एफ्फिरमेटिव एक्शन उत्तराखंड में उद्यमिता विकास के लिए आगे आया

पिछले दिनों उत्तराखंड राज्य में नेशनल एससी एसटी हब कॉन्क्लेव का आयोजन किया गया. दिनांक 23 जून को देहरादून के ओएनजीसी ऑडिटोरियम में इस कॉन्क्लेव का आयोजन किया गया. यह कॉन्क्लेव प्रदेश के सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यमों तथा  एससी एसटी उद्यमियों के संवर्धन हेतु आयोजित किया गया. कार्यक्रम का आयोजन एमएसएमई मंत्रालय, इंडियन चैम्बर ऑफ़ कॉमर्स फॉर एफ्फिरमेटिव एक्शन एवं एमएसएमई मंत्रालय के अन्य संस्थानों ने मिलकर किया था. कार्यक्रम में केन्द्रीय एमएसएमई मंत्री गिरिराज सिंह, केन्द्रीय कपड़ा राज्य मंत्री अजय टामटा, उत्तराखंड राज्य के मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने हिस्सा लिया.

देहरादून के ओएनजीसी ऑडिटोरियम में आयोजित इस कार्यक्रम को संबोधित करते हुए केन्द्रीय एमएसएमई मंत्री गिरिराज सिंह ने कहा कि केंद्र सरकार देश के एससी एसटी उद्यमिओं के विकास हेतु प्रतिबद्ध है. उन्होंने केंद्र सरकार द्वारा एससी एसटी उद्यमिओं के लिए चलाई जा रही विभिन्न योजनाओं के संदर्भ में अपने विचार साझा करते हुए, उनसे सार्वजानिक खरीद नीति का लाभ उठाने का आह्वाहन किया.

उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने समारोह को संबोधित करते हुए कहा कि राज्य सरकार युवाओं को स्वरोजगार की दिशा में आगे बढ़ाने के लिए प्रतिबद्ध है. हम चाहते हैं कि राज्य के युवा रोजगार की बजाय स्वरोजगार पर अपना ध्यान केन्द्रित करें और सिर्फ स्वयं के लिए नहीं बल्कि दूसरों के लिए भी रोजगार के अवसर उपलब्ध कराएँ. केन्द्रीय कपड़ा राज्य मंत्री अजय टामटा ने राज्य में शिल्पकारों एवं कारीगरों के लिए और अधिक अवसर उपलब्ध कराने की बात कही. राज्य में नए कॉमन फैसिलिटी केन्द्रों की स्थापना के सन्दर्भ में चर्चा की गई. कॉन्क्लेव में प्रमुख सचिव, मनीषा पवार, संयुक्त सचिव एमएसएमई, अल्का अरोरा, निदेशक एमएसएमई, डॉ पीजीएस राव तथा एनएसआईसी की ओर से विजय प्रकाश ने हिस्सा लिया.

सुनील जोड़े, संस्थापक एवं चेयरमैन, आईसीसीएए

कॉन्क्लेव के दौरान कार्यक्रम के प्रमुख आयोजक इंडियन चैम्बर ऑफ़ कॉमर्स फॉर एफ्फिरमेटिव एक्शन के संस्थापक एवं चेयरमैन सुनील जोड़े ने एसएमई समाधान से बातचीत करते हुए बताया कि उनका संगठन देश में सूक्ष्म, लघु एवं माध्यम उद्यमों की दशा एवं दिशा सुधारने के लिए प्रतिबद्ध है. उत्तराखंड राज्य में भी हम इस सन्दर्भ में कार्य कर रहे हैं और आशा करते हैं कि हम यहाँ पर इन उद्यमों की दशा एवं दिशा को सुधारने में राज्य सरकार के लिए मददगार साबित होंगे. एससी एसटी उद्यमिओं के सन्दर्भ में बात करते हुए उन्होंने बताया कि मैं लम्बे समय से इन उद्यमिओं के बीच काम कर रहा हूँ और अपने अनुभव द्वारा इनकी हर संभव सहायता करने के लिए प्रतिबद्ध हूँ. महाराष्ट्र में तो हमने अपने आपको साबित किया ही है और अब अन्य प्रदेशों में कार्य करने के लिए हम अग्रसर हैं. इंडियन चैम्बर ऑफ़ कॉमर्स फॉर एफ्फिरमेटिव एक्शन उत्तराखंड राज्य के एससी एसटी एवं अन्य उद्यमिओं की हर संभव मदद करेगा और प्रदेश में सम्पूर्ण उद्यमिता विकास के लिए प्रयासरत रहेगा. आशा करता हूँ मेरे इस नेक काज में मुझे राज्य एवं केंद्र सरकार की भी मदद मिलेगी और हम साथ मिलकर सकारात्मक दिशा में कार्य करेंगे.

 

About SMEsamadhan

Check Also

बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज ने लॉन्च किया अपना बहुप्रतीक्षित “बीएसई स्टार्टअप प्लेटफॉर्म”

बीएसई स्टॉक एक्सचेंज ने बहुप्रतीक्षित “बीएसई स्टार्टअप प्लेटफॉर्म” अभी हाल ही में लॉन्च कर दिया …