स्मार्ट इंडिया हैकेथॉन के पहले हार्डवेयर संस्करण का फाइनल जून 18 से 22, 2018 को आयोजित

एआईसीटीई, परसिस्टेंट सिस्टम्स, आई4सी और आईआईटी खडगपुर के सहयोग से मानव संसाधन विकास मंत्रालय, स्मार्ट इंडिया हैकेथॉन 2018 के पहले हार्डवेयर संस्करण के फाइनल का जून 18 से 22, 2018 के दौरान आयोजन करेगा। केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री श्री प्रकाश जावडेकर ने आज नई दिल्ली में आयोजित एक संवाददाता सम्मेलन में यह जानकारी दी। उन्होंने कहा कि स्मार्ट इंडिया हैकेथॉन 2018 प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के मेक इन इंडिया पहल के अनुरूप है। यह कार्यक्रम नए विचारों को सामने लाने तथा इन्हें उत्पाद और व्यवसाय के रूप में बदलने में प्रमुख भूमिका निभा रहा है।

कार्यक्रम की विस्तृत जानकारी देते हुए मंत्री महोदय ने कहा कि एसआईएच-2018, देश के तकनीकी रूप से समृद्ध युवाओं के लिए अपनी प्रतिभा तथा रचनात्मक उत्पाद प्रदर्शित करने का यह अपने किस्म का पहला प्रयास है। इस प्रयास से कृषि, स्वास्थ, स्वच्छ जल, कचरा प्रबंधन, संचार व शिक्षा जैसे क्षेत्रों में क्रांतिकारी परिवर्तन हो सकते हैं। हार्डवेयर संस्करण एसआईएच-2018 का एक उपसंस्करण है।

उन्होंने आगे कहा कि हार्डवेयर हैकेथॉन के लिए 4362 टीम विचार प्राप्त किए गए हैं। इसमें 752 प्रौद्योगिकी संस्थानों के 50 हजार से अधिक छात्रों ने भाग लिया है। द्विस्तरीय आंतरिक मूल्यांकन के पश्चात एसआईएच-2018 के 10 थीमों के तहत 106 टीमों का चयन किया गया।

श्री प्रकाश जावडेकर ने कहा कि एसआईएच-2018 का फाइनल पांच दिनों तक चलेगा और इसका देश के 10 प्रतिष्ठित संस्थानों में आयोजन होगा। ये संस्थान हैं – आईआईटी कानपुर (थीम – ड्रोन), आईआईटी खड़गपुर (थीम – कृषि), आईआईटी गुवाहाटी (थीम – ग्रामीण प्रौद्योगिकी), सीईईआरआई पिलानी (थीम – स्मार्ट कम्युनिकेशन), सीएसआईओ चंडीगढ़ (थीम – स्वास्थ्य देखभाल), आईआईएससी बेंगलुरु (थीम – स्मार्ट वाहन), आईआईटी रुड़की (थीम – स्वच्छ पानी), एनआईटी त्रिची (थीम – कचरा प्रबंधन), सीओईपी पुणे (थीम – सुरक्षा), और फोर्ज कोयंबटूर (थीम – आयात विकल्प)।

…………………………………………………………………………………………..स्मार्ट इंडिया हैकाथान 2018 के एक फाइनलिस्ट से SME SAMADHAN ने खुद बात की, पढ़िए उनके बारे में आप यहाँ. राजीव गाँधी मेमोरियल कॉलेज ऑफ़ इंजीनियरिंग एंड टेक्नोलॉजी, नन्दयाल की टीम “साइंटीलेटर्स ऑन फायर”………………

 

फाइनल के दौरान उद्योग जगत के विशेषज्ञों तथा एंजल निवेशकों के द्वारा अंतिम निर्णय लिया जाएगा। प्रत्येक थीम की सर्वश्रेष्ठ तीन टीमों को क्रमशः 1,00,000 रुपये, 75,000 रुपये तथा 50,000 रुपये का नकद पुरस्कार दिया जाएगा। उन्हें निवेशकों का भी सहयोग प्राप्त होगा। विजेता टीमों द्वारा स्टार्टअप निर्माण के संदर्भ में मानव संसाधन विकास मंत्रालय विज्ञान व तकनीकी मंत्रालय के साथ सहयोग करते हुए कार्य कर रहा है। संभावना वाले नवोन्मेषों को अतिरिक्त कोष उपलब्ध कराने के प्रयास किये जा रहे हैं।

एचआरडी के उच्च शिक्षा विभाग के सचिव श्री आर सुब्रमण्यम ने कहा कि स्मार्ट इंडिया हैकेथॉन 2018 हार्डवेयर संस्करण का आयोजन राष्ट्रीय स्तर पर हार्डवेयर उत्पाद विकास को ध्यान में रखते हुए किया जा रहा है। इसके माध्यम से देश के प्रौद्योगिकी क्षेत्र के प्रतिभाशाली छात्रों को अपने नवोन्मेषी विचारों को उत्पाद में बदलने का अवसर दिया जा रहा है। इन्हें निवेशकों के समक्ष रखा जाएगा। इससे उन्हें भविष्य के स्टार्टअप बनने का मौका मिलेगा।

सॉफ्टवेयर संस्करण का आयोजन 30 और 31 मार्च, 2018 को पूरे देश के 28 नोडल केंद्रों पर किया गया था।

स्रोत: पीआईबी एवं SMEसमाधान.

About SMEsamadhan

Check Also

स्टार्ट-अप्स को जल्द ही सरकारी ई-बाजार – जीईएम प्लेटफॉर्म पर लाया जाएगा

सरकारी ई-बाजार (जीईएम) तथा औद्योगिक नीति और संवर्धन विभाग (डीआईपीपी) स्टार्ट-अप्स के लिए एक पीओसी …