अपने स्टार्टअप के लिए पिच कैसे तैय्यार करें  

स्टार्टअप्स में निवेश के लिए परपरागत तरीकों के अतिरिक्त एंजेल इन्वेस्टमेंट एवं अन्य विकल्प भी मौजूद होते हैं. इस प्रकार के विकल्पों में निवेशक मात्र निवेशक ही नहीं बल्कि आपका व्यावसायिक साझीदार और कई बार मेंटर तक होता है. इस प्रकार के निवेश अथवा साझीदारी पाने के लिए आपको अपने स्टार्टअप की पिच तैय्यार करनी पड़ती है, जो कि पॉवर पॉइंट प्रेजेंटेशन, स्लाइड शो एवं विडियो द्वारा समर्थित पिच हो सकती है. क्या होना चाहिए आपकी स्टार्टअप पिच में और कैसे उसे बनायें चलिए आज इसी विषय पर चर्चा कर लेते हैं.

आपने अक्सर ट्रेन,बसों या सड़क पर प्रत्यक्ष बिक्री करने वाले प्रतिनिधिओं को देखा होगा कैसे वो मात्र पिच के भरोसे तुरंत अपने उत्पाद बेच डालते हैं. आपकी पिच भी लगभग

आपकी पिच को तो एक बड़ा निवेश आकर्षित करना है अतः आपकी पिच तो बेहतर से भी बेहतर होनी चाहिए.

यह पिच 5 मिनट तक की ही होनी चाहिए, इसमें आप कौन हैं, आपका उत्पाद या सेवा क्या है, आपका टारगेट कस्टमर कौन है, आप अपने व्यवसाय अथवा उद्यम से रेवेन्यू कैसे जेनेरेट करने वाले हैं, इन सभी का उत्तर इस 5 मिनट की पिच में समाहित होना चाहिए. आपके स्टार्टअप में निवेश का प्रतिफल यानी आर.ओ.आई. – रिटर्न ऑन इन्वेस्टमेंट क्या होगा, आपके विकास की रणनीति क्या है यह सब कुछ इस पिच निहित होना आवश्यक है.

पिच का अभ्यास?

आपको अपना बिज़नेस अथवा स्टार्टअप आईडिया निवेशकों के समक्ष इस पिच के माध्यम से ही पेश करना होता है. अतः इस पिच को निवेशकों के समक्ष पेश करने का अभ्यास करना भी आवश्यक है. क्योंकि “करत-करत अभ्यास के जड़मति होत सुजान” अर्थात “प्रैक्टिस मेक्स परफेक्ट”. कल आपको यह पिच असल निवेशकों के समक्ष ही देनी है अतः इसका अभ्यास भी यदि हम असल लोगों के समक्ष ही करें तो बेहतर होगा.

अपने निवेशकों को जानें

अपने निवेशकों के बारे में यदि आप पहले से थोड़ा शोध कर लें तो अच्छा होगा. अपने एंजल इन्वेस्टर के बारे में आपकी यह जानकारी आपको अपनी पिच के निर्माण में भी सहायता करेगी. आपके ये निवेशक उद्योग जगत में कितने मान्य हैं और उनके द्वारा वित्त सहयोग प्राप्त स्टार्टअप कितने सफल हैं. दरअसल आपको ऐसे मंचों पर ही अपना आईडिया प्रस्तुत करना चाहिए जहाँ अच्छी गुणवत्ता वाले निवेशक उपस्थित हों.

स्वयं को एक कुशल व्यवसाई के रूप में पेश करें 

यह पिच एक सम्मोहक कहानी के रूप में होनी चाहिए, जिसके माध्यम से आप स्वयं को एक कुशल व्यवसाई के रूप में प्रदर्शित कर सकें. इस प्रकार के निवेश एक प्रकार की व्यापारिक साझीदारी के समान होते हैं, निवेशक स्मार्ट अथवा कुशल उद्यमिओं में निवेश करना चाहते हैं जो इस विषय पर एकदम स्पष्ट हों कि वे क्या कर रहे हैं और इनके माध्यम से निवेशक भी अपने निवेश पर प्रतिफल चाहते हैं.

अपने आईडिया की पिच प्रस्तुति में व्यावसायिक नैतिकता एवं कौशल का अत्यधिक महत्त्व होता है. आपकी व्यापारिक योजना, बिक्री संख्या, बिक्री इतिहास तो महत्वपूर्ण है ही, लेकिन एक अभूतपूर्व उद्यमी एवं व्यापारिक साझीदार के रूप में आपकी महत्ता सर्वोपरि है.

आपकी पिच दृश्यात्मक रूप से परस्पर संवादात्मक होनी चाहिए

आपकी पिच दृश्यात्मक एवं परस्पर संवादात्मक होनी चाहिए अर्थात आपकी पॉवरपॉइंट प्रेजेंटेशन अथवा स्लाइड शो को देखकर उन्हें आपका स्टार्टअप आईडिया महसूस होना चाहिए. उन्हें आपकी पिच देखकर उसका अनुभव होना चाहिए.

अपनी नेगोशियेशन स्ट्रेटेजी के साथ तैय्यार रहें

निवेशक के समक्ष जाने से पहले अपनी नेगोशियेशन स्ट्रेटेजी के साथ आप तैय्यार रहें. बातचीत करने के लिए आपको एक योजना के साथ आने की जरूरत है यह आपकी पिच का हिस्सा है जहां दांव वास्तव में बहुत अधिक है. आपको समय से पहले काफी तैयारी करनी होगी. सुनिश्चित करें कि आप अपने उत्पाद या सेवा, उद्योग और प्रतियोगिता से पूरी तरह से परिचित हैं.

शांत भाव से प्रयास जारी रखें

ऐसा आवश्यक नहीं है कि आप इस संदर्भ में एक बार में ही सफल हो जाँय. अतः आप शांत भाव से अपने प्रयास जारी रखें. इस प्रकार के निवेशक अथवा साझीदार की दिलचस्पी समय के साथ बदलती रहती है, वे कई बार अलग अलग सेक्टर्स के स्टार्टअप्स में दिलचस्पी ले सकते हैं. आप उनके लिए एक नए व्यवसायी हैं अतः आपके प्रति वे संदेहात्मक एवं आलोचनात्मक भी होते हैं, उनके प्रश्नों के संतोषजनक उत्तर ही उनके संदेह को दूर कर सकते हैं. आप इस पिच के दौरान लगभग एक हॉट सीट पर होते और कई बार आपके सामने प्रश्नों की बौछार सी हो सकती है, ऐसी स्थिति में शांत चित्त और आपका आत्मविश्वास ही आपके साथी हो सकते हैं.

कैसा लगा आपको स्टार्टअप पिच से सम्बंधित यह आर्टिकल हमें अवश्य लिखें, और क्या पढ़ना चाहते हैं आप यहाँ हमें अवश्य लिखें. आप हमें लिख editor@SMEsamadhan.com पर ….

About SMEsamadhan

Check Also

मुफ्तखोरी नहीं उन्हें उनका स्वाभिमान दीजिये

चुनावों में दिखी नाराजगी के बाद केंद्र सरकार जल्द ही किसानों के लिए कर्ज माफी …