फ्यूजियोनाईट इन्फ्राटेल के टेलिकॉम इंफ्रास्ट्रक्चर क्षेत्र में बढ़ते कदम  

लखनऊ स्थित फ्यूजियोनाईट इन्फ्राटेल प्राइवेट लिमिटेड देश में डिजिटल इंडिया पर कार्य कर रही प्रमुख कम्पनिओं में से एक है. एफआईपीएल एक युवा एवं गतिशील कम्पनी है जो कि दूरसंचार क्षेत्र में मुख्य रूप से ट्रांसमिशन के क्षेत्र में 4 जी, 5 जी और एफटीटीएच क्षेत्र में अपनी सेवाएं प्रदान करती है.

पुष्पेन्द्र वैश्य, कोफाउंडर एवं फाउंडर सुनीत गुप्ता, फ्यूजियोनाईट इन्फ्राटेल

फ्यूजियोनाईट इन्फ्राटेल के संस्थापक सुनीत गुप्ता एमएनएनआईटी, इलाहाबाद से 1996 बैच के इंजिनियर हैं, उन्होंने एसएमयू विश्वविद्यालय से एमबीए भी किया है. अपनी खुद की कम्पनी एफआईपीएल शुरू करने से पूर्व सुनीत गुप्ता ने देश की चुनिन्दा टेलिकॉम इंफ्रास्ट्रक्चर कम्पनीज जैसे एलएंडटी, भारती एयरटेल, एचएफसीएल और एयरसेल के लिए इस सेगमेंट में कार्य किया और इस अनुभव का आज एफआईपीएल अपने आपको स्थापित करने में लाभ उठा रहा है. कम्पनी के एक और प्रमुख स्तम्भ पुष्पेन्द्र वैश्य हैं, जो कि एफआईपीएल के सह-संस्थापक या कोफाउंडर हैं. पुष्पेन्द्र को भी टेलिकॉम इन्फ्रास्ट्रक्चर क्षेत्र में बीस वर्षों से अधिक का अनुभव है और उन्होंने भारती एयरटेल, एचएफसीएल इत्यादि जैसी चुनिन्दा टेलिकॉम कम्पनीज के लिए कार्य किया है.

एफआईपीएल के बढ़ते हुए क़दमों के साथ सुनीत प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के विज़न डिजिटल इंडिया और स्किल इंडिया में अपना योगदान देना चाहते हैं. आज की ज्वलंत आवश्यकता युवाओं को वे अधिक से अधिक रोजगार उपलब्ध करवाना चाहते हैं. लखनऊ, गोमती नगर के विभूति खंड में स्थित एफआईपीएल कार्यालय से सम्पूर्ण संचालन किया जाता है.

सुनीत बताते हैं, “हमारे पास परियोजनाओं एवं ओ एंड एम कार्यों के निष्पादन हेतु तकनीकी विशेषज्ञ टीमें हैं जो ऑप्टिकल फाइबर, बीटीएस साइटों, माइक्रोवेव इत्यादि का काम करती हैं. 2 जी, 3 जी, 4 जी टेक्नोलॉजीज, वाईफाई, एफटीटीएच के काम तथा प्रौद्योगिकी स्वैपिंग इत्यादि के प्रोजेक्ट्स पर भी हम कार्य कर रहे हैं.”

फ्यूजियोनाईट इन्फ्राटेल प्राइवेट लिमिटेड मात्र एक वर्ष के सफ़र में ही डेढ़ करोड़ रुपयों से अधिक का टर्नओवर हासिल कर लिया है, जो कि एक स्टार्टअप अथवा नवउद्यम के लिए एक उल्लेखनीय उपलब्धि है. कौशल विकास को बढ़ावा देते हुए 70 गैर तकनीकि लोगों को प्रशिक्षित कर कपनी में स्थान दिया गया है. सुनीत कहते हैं, “उनका लक्ष्य है कि कम्पनी 3 साल में दस करोड़ रुपयों के टर्नओवर को अचीव करे. हमारा लक्ष्य है कि हम इन तीन सालों में श्रम शक्ति के लिहाज से 500 + की एक कुशल टीम बनाने की है.”

एफआईपीएल के कोफाउंडर पुष्पेन्द्र वैश्य बताते हैं, “हम दूरसंचार और गैर दूरसंचार उद्योग की संपूर्ण मूल्य श्रृंखला को कवर कर रहे हैं, जिसका सम्बन्ध बुनियादी ढांचे, रख रखाव एवं संचालन से है. हम यहाँ विश्वस्तरीय सेवाएं प्रदान करते हुए देश के औद्योगिक विकास में सहायक बनना चाहते है. हम सर्वश्रेष्ठ प्रतिभाओं को अपने साथ जोड़ना चाहते हैं, उन्हें खुद में समाहित करना चाहते हैं और इन प्रतिभाओं के साथ ही आगे बढ़ना चाहते हैं. अपने सक्रिय दृष्टिकोण, सेवा की गुणवत्ता, आर एंड डी, इनोवेशन, प्रतियोगी और लागत प्रभावी हैं और इसीलिए शायद मजबूती के साथ आगे बढ़ रहे हैं. हमारा विश्वास है कि गुणवत्ता न केवल उत्पादों, सेवाओं तथा समाधानों में ही होनी चाहिए बल्कि हम कैसे यह सेवा प्रदान कर रहे हैं, हमारा व्यवहार कैसा है, हमारा अपने ग्राहकों से कैसा सम्बन्ध है इसकी गुणवत्ता पर भी बहुत कुछ निर्भर करता है.”

तो इनको शुभकामनायें, ये आगे बढ़ें. अपने लक्ष्यों को पायें. अपना विकास करें, देश के विकास में अपना योगदान दें.

__________________________________

कैसी लगी आपको लखनऊ से फ्यूजियोनाईट इन्फ्राटेल की यह कहानी, हमें अवश्य लिखें, और क्या पढ़ना चाहते हैं आप यहाँ हमें अवश्य लिखें. संपर्क सूत्र editor@SMEsamadhan.com

About SMEsamadhan

Check Also

आयकर विभाग जल्द तय करेगा किस प्रकार के स्टार्टअप को मिलेगी एंजल टैक्स की छूट

किस प्रकार के स्टार्टअप को मिलेगी एंजल टैक्स की छूट आयकर विभाग जल्द इस बात …